जहाँ एक ओर IMF ने दुनिया को भारत से दी सीखने की सलाह ..

हाल ही में एक स्पेनिश न्यूज़पेपर ने इंडियन ग्रोथ को दिखाते हुए एक सपेरे की फोटो दिखाई है और इंडिया की ग्रोथ के लिए कहा है कि देखिए इंडिया की ग्रोथ कैसे हो रही है यानी कि कोई बांसुरी बजा रहा है और ग्रोथ रेट चलना शुरू हो रही है कहते हैं कि अंग्रेज इंडिया को स्नेक चार्मर कहके पुकारा करते थे यह सपेरों का देश है यहां के लोग सांपों का खेल देखकर बड़े हुए हैं। यही कारण है कि स्पेनिश न्यूज़पेपर ने इंडिया की उसी पुरानी इमेज को लेकर के मजाक कर लिया।

इंडिया की तारीफ में इस पर आईएमएफ कहता नहीं थक रहा है
इसमें कहा कि इंडिया इतनी बड़ी आबादी के बाद अगर हम इसके फिगर्स पड़ जाए तो दुनिया की सेकंड लार्जेस्ट पापुलेशन है अगर ऐसे ही चलता रहा तो इंडिया एक-दो साल में लेकिन लार्जेस्ट आबादी वाला देश बन जाएगा इस बात को आईएमएफ ने अप्रिशिएट किया इन्होंने इंडिया को लॉजिस्टिक मार्बल कह के पुकारा।

आईएमएफ के द्वारा एक रिपोर्ट निकाली जाती है हर 6 महीने में निकाली जाती है आउटलुक के नाम से आप उसे जानते हैं और उसमें हर 6 महीने के अंदर ग्रोथ को लेकर प्रोजेक्शन दिए जाते हैं
उसमें जो इंडिया की ग्रोथ को लेकर जो प्रोजेक्शन दिए गए हैं वह भी काफी सकारात्मक हैं हालांकि तुलनात्मक रूप से उन्होंने जो पहले बताएं उससे कम है लेकिन औरों की तुलना में सकारात्मक है ।

आपके द्वारा जो रिपोर्ट दी गई है उसको लेकर बहस छिड़ी हुई है अभी जब क्रेडिट देने की बात आती है तो स्वाभाविक है जिन्होंने भी इस काम को शुरू किया जिन्होंने भी इस काम को शुरू किया होगा वह चाहेंगे कि इस चीज के लिए उन्हें याद किया जाए बीजेपी और कांग्रेस क्रेडिट को लेकर लड़ाई कर रहे हैं। और अगर काम को लेकर लड़ाई हो तो निश्चित इसके पीछे प्रगति छिपी होगी

Leave a Comment