क्या अफगानिस्तान के बराबर भुखमरी है भारत में

हाल ही में एक रैंकिंग वर्ल्ड वाइड जारी हुई है जिसमें भारत को दुनिया में इतना भुखमारा बताया है जितना कि अफगानिस्तान।

कारण यह है कि जब खिलाने वाला खुद ही भुखमरी की हालत में हो तो यह चर्चा का विषय बनता है भारत को जानो ग्लोबल हंगर इंडेक्स में डाला गया है वह 107 नंबर की है 2019 में 94 रैंकिंग पर थे इसके हिसाब से तो हम दिनों दिन और भूखे होते जा रही हैं इसके रिपोर्ट के अकॉर्डिंग तो हम के भूखे मरे जा रहे हैं।
दुनिया के साथ-साथ देखे हमारे हालात कैसे हैं तो हम अफ्रीकन कंट्री जैसे देश जिनके बारे में हम यह सोचते हैं कि इनको तो हम अनाज भेज रहे हैं यह दुनिया से अनाज मंगा मंगा कर जी रहे हैं इंडिया के हालात देखे तो रवांडा ,नाइजीरिया ,यूथोपिया ,कांगो जैसे हालात हैं और हमारे देश के अंदर मुसीबत शुरू इस बात की हो जाती है कि लोग इसे सच मान लेते हैं इसी कारण से भारत सरकार ने कहा है कि यह पूरी तरह से biased रिपोर्ट है हम कैसे मान लें कि यह सही है आपने यह आंकड़ा कैसे बनाएं और कैसे ले जल्दी निकाल लिया यह तो बताओ।

सरकार ने उठाया कि पिछले साल की रिपोर्ट पर सवाल
पिछले साल ग्लोबल हंगर इंडेक्स में 100 के पास ले जाने के बाद भारत सरकार ने इस रिपोर्ट पर सवाल उठाए थे सरकार ने इसे जमीनी हकीकत से बिल्कुल अलग बताया था सरकार ने दावा किया था कि इस इंडेक्स को तैयार करने में जो methdology इस्तेमाल की गई है वह साइंटिफिक नहीं है।
मंत्रालय ने अपने बयान में फूड एंड एग्रीकल्चर ऑर्गेनाइजेशन (FAO) की द स्टेट ऑफ फूड सिक्योरिटी एंड न्यूट्रिशन इन द वर्ल्ड 2021 पर भी सवाल उठाए हैं हंगर इंडेक्स में अंडरनारिशमेंट का डाटा FAO की इस रिपोर्ट से लिया गया है।

ग्लोबल हंगर इंडेक्स क्या होता है
दुनिया भर के देशों में भुखमरी के हालात को लेकर हर साल रिपोर्ट जारी की जाती है इसे ग्लोबल हंगर इंडेक्स का नाम दिया गया है यह रिपोर्ट जर्मनी का गैर सरकारी संगठन बेल्ट हंगर हिल्फ और आयरलैंड का गैर सरकारी संगठन कंसर्न वर्ल्ड वाइड मिलकर जारी करते हैं इन दोनों संस्था का मुख्य मकसद दुनियाभर के अलग-अलग देशों में चार पैमानों पर गरीबी और भुखमरी के बारे में पता करना है।

Leave a Comment