यूक्रेन में रह रहे भारतीय तुरंत छोड़े देश : भारत

यूक्रेन में रह रहे भारतीयों को वहां के उच्चायोग ने सख्त हिदायत दी है कि तुरंत यूक्रेन छोड़ दे यह खबर आप लोगों के सामने न्यूज़ पेपर के माध्यम से तो आ ही जाएगी इसके अलावा सरकार के द्वारा वहां पर बिठाया गया उच्चायोग है उसने भी इस तरह की जानकारी दी है।

हम इसमें थोड़ा पीछे चलते हैं तारीख 20 february को इंडियन एंबेसी यूक्रेन ने कहा था एडवाइजरी जारी करते हुए कि जो इंडियन नेशनल्स यहां रह रहे हैं उन्हें यहां से छोड़ देना चाहिए Temporarily इसका मतलब उस समय यह नहीं था कि युद्ध हो जाएगा फिर भी एंबेसी ने 20 फरवरी को नोटिफिकेशन जारी कर दिया था और आपको मालूम है की फरवरी 24 वो तारीख जिस दिन रूस ने यूक्रेन पर हमला कर दिया था यानी 4 दिन पहले यानी 4 दिन पहले इंडिया ने एडवाइज देखकर अपने लोगों को अलर्ट पर डाल दिया था यह घटना आपको याद होगी उसके बावजूद भी जब युद्ध शुरू हो चुका था धीरे-धीरे बमबारी शुरू हो चुकी थी समय-समय पर इंडियन एंबेसी अपने लोगों को अलर्ट दे रही थी उन्हें अलर्ट्स को ध्यान में रखते हुए भारत में अपने द्वारा ऑपरेशन गंगा लांच किया था यूक्रेन में फंसे हुए भारतीयों को बाहर निकालने के लिए ताकि सुरक्षित रूप से निकाला जा सके।
युद्ध के चौथे दिन 28 फरवरी को भारत सरकार ने ऑपरेशन गंगा लांच किया जिसकी वजह से जितने भी लोग वहां थे उन सब को निकाला गया।

जैसे ही बॉर्डर पर 24 फरवरी के बाद यह अच्छा नहीं थी कि यूक्रेन की राजधानी Kyiv पर भी हमला हो जाएगा लेकिन हमारी एंबेसी ने युद्ध होने से पहले Kyiv को भी टारगेट किया जाएगा यह सूचना पहले ही दे दी थी ऐसा होने पर तुरंत वहां से भारतीयों को निकलने का आदेश दिया गया था।

अब आप यह सोच रहे होंगे कि अंजाम ऑलरेडी वहां से 20000 लोगों को निकाला जा चुका था तो अब वहां कौन फंसा हुआ है भारत सरकार को दोबारा नोटिफिकेशन देना पड़ रहा है यह बहुत बड़ा सवाल है और इसके अंदर बहुत सी पॉलिसी वाले मुद्दे डिस्कस किए जा सकते हैं। और रूस ने वहां Martial law लगा दिया है ।

30 सितंबर 2022 की बात है व्लादिमीर पुतिन के द्वारा यूक्रेन के चार क्षेत्रों में एनेक्सेशन डिक्लेयर कर दिया गया प्रॉपर तरीके से उन्हें रूस का हिस्सा बना दिया गया हालांकि इसी दौरान यूक्रेन ने क्रीमिया वाले क्षेत्र के अंदर जो ब्रिज था जो कि यूरोप का सबसे महंगा ब्रिज है नुकसान पहुंचाया गया जिसके बदले में रूस के द्वारा लगातार यूक्रेन में हमले किए जा रहे हैं कि Kyiv वाले क्षेत्र में।

Leave a Comment