हिजाब विवाद पर सुप्रीम कोर्ट में बंटा दोनों जजों का फैसला

हाल ही में सुप्रीम कोर्ट ने हिजाब विवाद पर कर्नाटका हाई कोर्ट के फैसले को ऊपर सुनवाई करते हुए एक स्प्लिट वर्डिक्ट दिया है ऐसी स्थिति में कौन से जज की क्या राय थी कोई जज है हिजाब बेन के समर्थन में थे तो कोई इसके खिलाफ। अब यह फैसला सीजे यूयू ललित जी के पास जाएगा अब वही तय करेंगे कि इसका भविष्य क्या होगा।

कौन सा मुद्दा सुप्रीम कोर्ट पहुंचा 15 मार्च की तरफ की ही बात है हिजाब को इस्लाम की इसएनसीएल प्रैक्टिस ना मानते हुए कर्नाटका हाई कोर्ट ने रोक लगा दी ऐसी स्थिति में जो हिजाब प्रैक्टिस कर रहे या जिनकी वजह से वह हिजाब पहनकर स्कूल जा रहे थे वह याचिकाकर्ता बनकर सुप्रीम कोर्ट पहुंचे।

सुप्रीम कोर्ट में प्रमुख किरदार सुनवाई करने वाली बेंच पर जस्टिस हेमंत गुप्ता और जस्टिस सुधांशु धूलिया शामिल थे-

जस्टिस हेमंत गुप्ता
उन्होंने कहा हिजाब आवश्यक धार्मिक स्थान नहीं है और वही धूलिया का विचार था कि लड़कियों की शिक्षा सबसे जरूरी है इसके अतिरिक्त यहां पर जो मुस्लिम लड़कियों की तरफ से केस लड़ने वाले वकील है- राजीव धवन ,देवदत्त कामत, संजय हेगडे, निजाम पाशा और अन्य
वहीं सरकार की तरफ का पक्ष रखने वाले जो वकील थे एडवोकेट जनरल प्रभूलिंग नवदगी ,एडीशनल सॉलीसीटर जनरल केएम नटराज

इस पर जब गुप्ता जी ने अपना स्टेटमेंट दिया तो कहां कि मेरी ओपिनियन के अंदर इस मैटर को आप चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया के पास भेज दिया जाना चाहिए और उन्हीं से हमें आगे की दिशा प्राप्त करनी चाहिए कि वह इस विषय को किस दिशा में ले जाना चाहते हैं कारण उन्होंने क्या कहा कि मैं सीजेआई के साथ इस बारे में कहना चाहूंगा वह हमें इस पर दिशा निर्देश दें और मैंने खुद ने 11 सवाल कैसे बनाएं है जिनके ऊपर मैं सीजेआई से निर्देश चाहता हूं यह जस्टिस हेमंत गुप्ता बोले।
और यह भी कहा कि मैं पंजाब से पटना तक पर मुस्लिम परिवारों से मिला लेकिन किसी भी परिवार में महिला को हिजाब पहने  नहीं देखा इन के 11 सवाल जिस पर उन्होंने हिजाब बेन को सही ठहराया है
1- कि क्या छात्रों को अनुच्छेद 19 21 25 के तहत वस्त्र चुनने का अधिकार दिया जा सकता है?
2- अनुच्छेद 25 की सीमा क्या है?
3- व्यक्तिगत स्वतंत्रता और निजता के अधिकार की व्याख्या किस तरह से की जाए?
4- क्या कॉलेज छात्रों की यूनिफॉर्म पर फैसला कर सकते हैं?
5- क्या हिजाब पहनना और इसे प्रतिबंधित करना धर्म की स्वतंत्रता का उल्लंघन है (अनुच्छेद 25)
6- क्या अनुच्छेद 25 और अनुच्छेद 19 (भाषण और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता) परस्पर अनन्यय है ।
7- क्या कर्नाटक प्रतिबंध मौलिक अधिकारों का उल्लंघन करता है?
8- क्या हिजाब पहनना सलाम के तहत आवश्यक अभ्यास का हिस्सा है क्या सरकारी आदेश शिक्षा के पहुंच के उद्देश्य को पूरा करता है?
9- क्या अपील को संविधान पीठ के पास भेजा जाना चाहिए?

लेकिन धूलिया जी ने कहा बच्चे स्कूल जा पा रहे हैं या नहीं जा पा रहे हैं मुद्दे में या विषय ज्यादा बड़ा होना चाहिए था और पढ़ाई को प्राथमिकता देनी चाहिए।

Leave a Comment